राजस्थान एक ऐसा राज्य है जिसे प्रकृति की ओर से सारे उपहार दिए गए हैं। यहां झीले हैं, नदियां है, पहाड़ हैं और साथ ही मरुस्थल भी है। इतनी भौगोलिक विविधताएं देश के और किसी भी राज्य में नहीं पाई जा सकती हैं। राजस्थान में चाहें लोकनृत्य हो या फिर परंपरागत स्थल, सबकुछ देखने लायक और बेहद खूबसूरत है।

ऐसे ही खूबसूरत राजस्थान के बेहद खूबसूरत शहरों में से एक है उदयपुर। उदयपुर को झीलों की नगरी भी कहा जाता है। वो इसलिए क्योंकि पहाड़ों के बीच बसा ये खूबसूरत शहर झीलों का घर भी है। यहां फतेहसागर और पिछोला झीलें हैं। उदयपुर शहर को महाराणा प्रताप के बेटे उदयसिंह और उनकी 22 पुश्तों ने बसाया है।

10 Places to visit in Udaipur

इस खूबसूरत शहर का दीदार करने जा रहे हैं तो हम आपको बताते हैं कि आपको कौन-कौन सी जगह बिल्कुल मिस नहीं करनी चाहिए।

1. बागौर की हवेली-

  • उदयपुर घूमने जा रहे हैं तो इस हवेली में जो डांस शो होता है उसे देखना बिल्कुल ना भूलें। बागौर की हवेली एक पुरानी हवेली है जिसमें होने वाला डांस शो बेहद मशहूर है।
  • अक्सर उदयपुर घूमने जाने वाले लोगों को इस हवेली के बारे में ज्यादा पता नहीं होता है। यहां पर जो डांस शो होता है उसमें तेरह ताली, घूमर, भवाई, कठपुतली, भांड, कालबेलिया जैसे लोकनृत्य पेश किए जाते हैं।
  • ये इतने शानदार होते हैं कि देखने वाले कह सकते हैं कि उनका पैसा वसूल हो गया। तकरीबन एक से डेढ़ घंटे चलने वाले इस शो को देखकर आप बिल्कुल भी बोर नहीं होगें इतनी हमारी गारंटी है।
  • शाम को 6 बजे से ये शो शुरू होता है और 150 रुपए इसमें प्रति व्यक्ति टिकट है। जब भी आप उदयपुर जाएं बागौर की हवेली का दीदार करना बिल्कुल ना भूलें।
bagore-ki-haveli-udaipur

2. पिछोला झील:

  • उदयपुर की खूबसूरती में चार चांद लगाती है पिछोला झील, इस झील के किनारों पर हर जगह सिटिंग प्वाइंट यानि की बैठने की जगहें बनी हुई है।
  • उदयपुर के बहुत सारे होटल भी ऐसे हैं जहां से लेक पिछोला का खूबसूरत लेक व्यू दिखता है। इन होटल्स में आप ठहर सकते हैं जिससे आप पिछोला की खूबसूरती को अपनी आंखों से निहार सकते हैं।
  • लेक पिछोला में आप बोटिंग का मजा भी ले सकते हैं। इसके अलावा अमराई घाट पर लेक पिछोला के ठंडे पानी में पैर डुबोकर बैठने का मजा ही कुछ और है।
  • लोग रात को यहां पर अपने गिटार के साथ आते हैं। रात को लोग गाने गाते हैं और गाने सुनने का मज़ा भी लेते हैं।
  • लेक पिछोला की असली खूबसूरती रात को दिखती है। इसलिए उदयपुर जाएं तो अमराई घाट पर लेक पिछोला के ठंडे पानी का मजा जरुर लें।
Picchola-Lake-Udaipur

3. सज्जनगढ़ का किला:

  • पहले दिन इन दोनों जगह का मजा लेने के बाद आप अगले दिन सज्जन गढ़ के लिए निकल जाएं। यहां का सनसेट काफी मशहूर है इसलिए डूबते हुए सूरज के साथ सेल्फी लेने के लिए शाम के समय वहां जाएं।
  • सज्जन गढ़ एक ऊंची पहाड़ी पर बसा हुआ है। इस सफेद दुर्ग का रास्ता ही इतना खूबसूरत है कि किले में जाने का एक्साइटमेंट और भी बढ़ जाता है।
  • सज्जनगढ़ के किले में जाने के लिए आपको पहाड़ी की चोटी पर जाना होता है। आप यहां अपनी कार या बाईक से जा सकते हैं।
  • किले में पहुंचने पर आपको टिकट लेना होता है। किले में जाने के लिए एक ढ़लान चढ़नी होती है। इस ढ़लान को पार करने के बाद आपको अपने नीचे पूरा उदयपुर शहर दिखाई देता है। इतनी खूबसूरत जगह पहुंच कर आपको लगेगा की आपके जीवन का कोई सपना सा पूरा हो गया है।
  • किले में राजस्थान की सभ्यता और संस्कृति की झलक दिखाई गई है। इस किले को महाराजा सज्जन सिंह ने बनावाया था। किले में एक थ्री डी म्यूजियम भी है।
  • यहां के सनसेट प्वाइंट पर ठंडी हवा और सेल्फी के साथ सनसेट का नज़ारा देखना अपने आप में एक खूबसूरत एहसास है।
  • किले का हर एक कोना खूबसूरत है। किले से वापस लौटते हुए वहां बहार बैठे चपटा चना बनाने वाले लोगों के हाथों से बना चपटा चना जरुर खाएं। कसम से आपको मजा आ जाएगा।
Sajjangarh-Palace

4. दूध तलाई:

  • सज्जन गढ़ के किले के बाद दूध तलाई भी एक बेहतरीन सनसेट प्वाइंट है। जैसे सज्जनगढ़ के किले से उदयपुर शहर का नज़ारा दिखता है वैसे ही आपको पूरा शहर दूधतलाई से भी अपनी आंखों के सामने नज़र आएगा।
  • दूध तलाई में दरअसल रोप वे है, जिसे आप बचपन में उड़न खटोला भी कहते होगें। यहां से लाल, पीले और हरे तीन रंग के खूबसूरत उड़न खटोले आपको एक पहाड़ी से दूसरी पहाड़ी तक पहुंचाते हैं। दूसरी पहाड़ी के ऊपर एक विजिटिंग प्वांइट बना हुआ है। जहां पर पीर बाबा की मज़ार और माता करणी का मंदिर दोनों है। यहां से आप दोनों जगह दर्शन कर सकते हैं।
  • उदयपुर के खूबसूरत नज़ारे को अपनी आंखों में भरना है तो ये जगह आपके लिए सबसे बेस्ट है। यहां पर आप स्मोक कैंडी खाते हुए फोटो खिंचवाना ना भूलें। दरअसल, ये एक कैंडी होती है जिसे लिक्विड नाइट्रोजन से ठंडा किया जाता है। इसमें से धुंआ निकलता है और ऐसे लगता है कि आप धुंआ खा रहे हैं। 100 रुपए में दो मिलने वाली ये कैंडी इतनी ठंडी होती है की इसे चबाना भी मुश्किल हो जाता है। स्मोक कैंडी के साथ ही आप यहां के कैंटिन में स्वादिष्ट खाना भी खा सकते हैं।
  • दूध तलाई से वापस नीचे आने के लिए आपको नंबर लगाना पड़ता है। इस बात का ख्याल रखें कि अगर आप वापस नीचे आ रहे हैं तो अपनी पर्ची रोपवे वाले को दे दे ताकि आपको नीचे आने के लिए अपनी बारी का इंतजार ना करना पड़े। रोप वे का ये सफर आपको प्रति व्यक्ति 110 रुपए के हिसाब से पड़ता है लेकिन अगर आप सिर्फ अपने पार्टनर के साथ बैठना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अलग से ज्यादा दाम चुकाना पड़ता है। लेकिन इस जगह जाकर भी आपको खूब मज़ा आएगा।
Doodh-Talai

5. फतेहसागर झील:

  • फतेहसागर झील यहां की सबसे खूबसूरत झील है। इस झील को रंग-बिरंगी लाइट्स की जगमगाती रोशनी से इस तरह सजाया गया है कि इसे देखकर हर किसी का दिल खुश हो जाता है।
  • फतेहसागर झील के किनारे पर्यटन की पूरी व्यवस्था है। चौपाटी भेल के साथ ही आपको मैगी, स्वीटकॉर्न और वो सबकुछ मिलता है जो आप खाना चाहते हैं।
  • इसके किनारे पर आप कैमल सफारी यानि की ऊंट की सवारी का मज़ा ले सकते हैं। यहां पर सजे-धजे ऊंट पर आपको सवारी करने के लिए आपको 50 रुपए चुकाने पड़ते हैं। झील के किनारे ये ऊंट आपको हिचकोले खिलाते हुए घुमाता है।
  • इसी के साथ ही झील के किनारे पर स्ट्रीट लाइट्स लगाकर सीटिंग प्वाइंट भी बनाए गए हैं। इस पूरे ईलाके को रिवर फ्रंट की तरह सजाया गया है ताकि रात को आप यहां चहल-कदमी कर सकें। फतेहसागर झील में स्पीड बोटिंग के साथ ही आप कई अन्य तरह की बोटिंग का मज़ा भी ले सकते हैं।
Fatehsagar Lake Udaipur

6. अमराई का कैंडल लाइट डिनर:

  • वैसे तो उदयपुर में कैंडल लाइट डिनर के लिए कई जगहें मशहूर हैं। लेकिन एक्सपीरियंस के आधार पर हम आपको ये ही सलाह देगें की आप अमराई होटल जरुर जाएं।
  • अमराई से आपको शांत पानी और जगमगाते शहर का जो नज़ारा मिलेगा वैसा आपको कहीं नहीं मिलेगा। राजस्थान और गुजरात का परंपरागत खाना भी यहां मिलता है। पार्टनर को यहां कैंडल लाईट डिनर पर जरुर लेकर जाएं।
  • अमराई रेस्त्रां काफी मशहूर है इसलिए आप यहां पर पहले से ही टेबल रिजर्व करवा लें ताकि रात को जब आप डिनर पर जाएं तो आपको इंतजार ना करना पड़े।

7. जगदीश मंदिर:

  • शहर में बना जगदीश मंदिर बेहद खूबसूरत है। छोटे से इस मंदिर की ढ़ेर सारी सीढ़ीयां है जिन्हें चढ़कर आप भगवान श्री जगदीश के दर्शन करने पहुंच सकते हैं।
  • जगदीश मंदिर में संध्या के समय भजन-किर्तन होते हैं। यहां जाकर आपको खूब शांति मिलती है। कहते हैं कि इस मंदिर में कमल का फूल और प्रसाद चढ़ाने पर आपकी सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

8. सहेलियों की बाड़ी:

  • सहेलियों की बाड़ी भी एक बेहद सुंदर जगह है। इतिहास के अनुसार रानी और उनकी सहेलियों के लिए इसे बनाया गया था।
  • ये एक पार्क के जैसा है जहां जाने के लिए आपको कोई टिकट नहीं लेनी पड़ती। यहां पर फव्वारे और सुंदर तलाईयां हैं।

9. सिटी पैलेस:

  • सिटी पैलेस महाराजा का निवास है। आज भी यहां उदयपुर के महाराज रहते हैं।
  • इसमें एक म्यूजियम है जहां पर आप उदयपुर का इतिहास देख सकते हैं। सिटी पैलेस से उदयपुर के जगमंदिर और सभी खूबसूरत जगहों का सुंदर नज़ारा दिखता है।
  • इस जगह को घूमने के लिए आपको कम से कम 4-5 घंटे चाहिए ही चाहिए।
City-Palace-Udaipur

10. सुखाड़िया सर्कल:

  • ये एक सर्कल है जहां पर सफेद रंग का खूबसूरत फव्वारा और पार्क बना हुआ। सुखाड़िया सर्कल पर रात को रंग-बिरंगी रोशनी होती है।
  • उदयपुर में झीलें भर जाने पर यहां नगर निगम की तरफ से मेले का भी आयोजन करवाया जाता है। सुखाड़िया सर्कल के पास ही चाट का पूरा मार्केट है जहां आप उदयपुर के जायके का मजा ले सकते हैं।

उदयपुर में इन सभी जगहों पर घूमने के लिए आपके पास 3 रातों और दो दिन का समय होना चाहिए। उदयपुर के आसपास चितौड़गढ़, कुंभलगढ़ और माउंट आबू भी हैं। आपके पास अधिक समय हो तो आप वहां भी जा सकते हैं। उदयपुर घूमने जाएंगे तो हमारा ये आर्टिकल जरुर पढ़कर जाएं और अपने सफर का आनंद उठाएं।