बगीचा पर निबंध हिंदी में – Essay on Garden in Hindi

बगीचा पर निबंध (Garden Essay in Hindi)

1 . परिचय, 2 . वर्णन, 3 . उपयोगिता, 4 . उपसंहार ।

1 . किसी विद्यालय में विद्यालय का बगीचा सबसे आकर्षक स्थान होता है। बगीचा को उद्यान भी बोला जाता हैं। साधारणतः प्रत्येक विद्यालय में उद्यान रहता है।

जिस विद्यालय के हाते में उद्यान नहीं रहता वह देखने में खराब लगता है। सुंदर उद्यान विद्यालय को एक आकर्षक स्थान बना देता है। इसलिए प्रत्येक विद्यालय में एक सुंदर उद्यान रहना चाहिए।

2 . विद्यालय-उद्यान विद्यालय के हाते में रहना चाहिए। यह घेरा हुआ होना चाहिए। उद्यान में एक कुआँ या नल-कूप होना चाहिए जिससे पौधों को पटाया जा सके। उद्यान को दो भागों में बाँट देना चाहिए।

उद्यान के एक भाग में तरकारियाँ और फल लगाने चाहिए। उद्यान के दूसरे भाग में फूल लगाना चाहिए। उद्यान की नियमित रूप से देखभाल करने के लिए एक माली रहना चाहिए। विद्यालय के उद्यान में विभिन्न प्रकार के फूलों को लगाना चाहिए। उद्यान में भारतीय और अंगरेजी दोनों प्रकार के फूल रहने चाहिए।

भारतीय फूलों की गंध अच्छी होती है, लेकिन वे देखने में साधारण होते हैं। अँगरेजी फूलों में तेज गंध नहीं रहती, लेकिन उनका रंग चमकीला होता है। विद्यालय के उद्यान में गुलाब, चमेली, गेंदा, डेलिया, सूर्यमुखी और लिली के पौधों को अवश्य लगाना चाहिए।

यदि फूलों की क्यारियाँ सावधानी से बनाई जाएँ तो उद्यान बहुत सुंदर लगता है। विद्यालय के उद्यान में विभिन्न प्रकार की तरकारियाँ उपजाई जा सकती हैं।

3 . विद्यालय का उद्यान बहुत उपयोगी है। किसी विद्यालय में यह सबसे सुंदर स्थान होता है। यह प्रकृति का सुंदर दृश्य उपस्थित करता है। जब फूल खिलते हैं। तब उद्यान कितना आकर्षक लगता है।

सुंदर फूलों को देखने से हम अपने कष्टों और चिंताओं को भूल जाते हैं। वे हमें हँसना और प्रसन्न होना सिखलाते हैं। उद्यान में टहलने से हमें अत्यंत प्रसन्नता होती है। विद्यालय के उद्यान में टहलना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।

विद्यालय का बगीचा छात्रों को पौधों के विकास का अध्ययन करने में सहायक होता है। पौधे धीरे-धीरे बढ़ते हैं। वे उचित समय पर सुंदर फूलों और कलियों से लद जाते हैं।

विद्यालय का उद्यान हमें पौधों और फूलों के संबंध में बहुत ज्ञान देता है। यदि विद्यालय के उद्यान में तरकारियाँ उपजाई जाएँ तो वह आमदनी का साधन हो सकता है।

जब हम विद्यालय के उद्यान में काम करते हैं तब हम बागवानी का आनंद उठाते हैं। बागवानी एक उपयोगी शौक है। इससे पर्याप्त व्यायाम होता है, जिससे हमारा स्वास्थ्य अच्छा होता है।

4 . विद्यालय के बगीचे को व्यवस्थित रूप में रखना चाहिए। विद्यालय के छात्रों को उद्यान में अवश्य काम करना चाहिए। उन्हें बागवानी के आनंद से वंचित नहीं होना चाहिए।

Final Thoughts –

यह हिंदी निबंध भी पढ़े –


हिंदी व्याकरण – Hindi Grammar