रेडियो पर निबंध – Essay on Radio in Hindi

रेडियो पर निबंध हिंदी में (Radio Essay in Hindi)

1 . परिचय, 2 . किसने इसका आविष्कार किया ? 3 . यह कैसे कार्य करता है ? 4 . रेडियो से लाभ, 5 . उपसंहार ।

1 . आधुनिक विज्ञान के हाल के आविष्कारों में रेडियो एक है। यह बहुत लोकप्रिय हो गया है।

2 . भारत के महान वैज्ञानिक जगदीश चंद्र बोस ने सर्वप्रथम रेडियो और ध्वनि-विक्षेपक का सिद्धांत निकाला। परंतु, आर्थिक कठिनाइयों के कारण वे इसे व्यावहारिक रूप न दे सके। फलस्वरूप इटली के वैज्ञानिक मारकोनी को रेडियो के आविष्कार का दिया जाता है।

3 . दुनिया के हर देश के मुख्य शहरों में प्रसारण-केंद्र होते हैं। रेडियो-विशेषज्ञ और अन्य प्रवीण व्यक्तियों के अलावा बहुत-से कलाकार (संगीतज्ञ और विद्वान व्यक्ति) प्रसारण केंद्र में बहाल किए जाते हैं। वे गाते हैं, समाचार पढ़ते हैं और मुख्य प्रसंग पर विद्वत्तापूर्ण व्याख्यान देते हैं।

कभी-कभी नेता और शासन के संचालक रेडियो पर प्रमुख घोषणाएँ करते हैं या वक्तव्य देते हैं। हरएक प्रसारण-भवन में समाचार भेजनेवाली मशीनें रहती हैं। ये मशीनें स्वर (आवाज) पकड़ती हैं और उन्हें बिजली की लहर में परिवर्तित कर देती हैं।

रेडियो-सेट ग्राहक-यंत्र हैं। वे बिजली की इन लहरों को पकड़ते है और उन्हें फिर स्वर में परिवर्तित कर देते हैं। इस तरह बहुत दूर के स्थानों और देशों में लोग प्रसारण-केंद्र में जो गाते हैं या वक्तव्य देते हैं, उन्हें हमलोग अपने घरों में बैठे सुनते हैं।

4 . रेडियो ने चमत्कारिक कार्य कर दिखाया है। यह आधुनिक विज्ञान का चमत्कार है। अमेरिका में बैठा हुआ व्यक्ति कुछ बातचीत कर सकता है और भारत में और दुनिया के अन्य देशों में ठीक उसी तरह से जिस तरह वह बोलता है, लाखों व्यक्तियों द्वारा सुना जा सकता है।

अपने घर में बैठे हुए थोड़े खर्च में दुनिया के सबसे अच्छे कलाकारों के संगीत आप सुन सकते हैं। जब भी किसी व्यक्ति को उदासी मालूम पड़ती हो, वह रेडियो की कुंजी को घुमा सकता है और तुरंत ही संगीत की ध्वनि हवा में उसका मन बहलाने एवं उसे प्रमुदित करने के लिए आ पहुँचती है।

यह शिक्षा के माध्यम का भी काम करता है। हमलोग मुख्य-मुख्य समाचार को जानते हैं और प्रमुख एवं उद्देश्यपूर्ण व्याख्यान बिना परिश्रम किए सुनते हैं। हमलोगों को सभास्थल पर वक्तव्य सुनने के लिए जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती ।

यहाँ तक कि स्त्रियाँ, जो प्रायः बाहर नहीं जातीं, अपने घरों में बैठी हुई वक्तव्य और समाचार सुन सकती हैं। यह व्यापार में भी सहायता प्रदान करता है; क्योंकि चाँदी, सोना आदि तथा अन्य प्रमुख चीजों की दरें भी रेडियो से प्रसारित की जाती हैं।

5 . वह आनंद का दिन होगा जब भारत में हर घर में एक रेडियो होगा। इससे कम ही समय में लोग अधिक शिक्षित हो जाएँगे और अधिक जानकारी रखेंगे। इस तरह सैकड़ों वर्ष की शिक्षा से जो प्राप्त न हो सकेगा, वह रेडियो द्वारा कुछ ही वर्षों में प्राप्त हो जाएगा।

Final Thoughts –

यह हिंदी निबंध भी जरूर पढ़े –